Author: चौधरी कन्हैया प्रसाद सिंह आरोही

कुँवर-गाथा

सहस्रदल

माटी के महक

गीत जिनगी के

साक्षात् लक्ष्मी