2 Replies to “जेहल क सनादि”

  1. समाज के हर क्षेत्र से अवगत कराते हुए, न्याय धर्म गरीबी विश्वास प्रेम शिक्षा सौहार्द इत्यादि का गहराई से वर्णन करते हुए । स्वामी जी द्वारा रचित पुस्तक वास्तव में अनोखा बा एवं भोजपुरी जगत में स्तंभ लेखा स्थापित भी बा…
    🇮🇳🙏🏻

    +2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *