“हाय रे फेसबुक”

“हाय रे फेसबुक” – तंग इनायतपुरी के जुबानी : एगो आलेख “बात के बतंगड़” से m

“ऊ पागल कि हमनी के”

“ऊ पागल कि हमनी के” – तंग इनायतपुरी के जुबानी : एगो आलेख “बात के बतंगड़” से

“सामाजिक जानवर”

“”सामाजिक जानवर” – तंग इनायतपुरी के जुबानी : एगो आलेख “बात के बतंगड़” से

हम का कहीं

“हम का कहीं ” – तंग इनायतपुरी के जुबानी : आत्मकत्थ्य “बात के बतंगड़” से

भोजपुरी साहित्यांगन – एगो छोटहन सफर

भोजपुरी साहित्यांगन – एगो छोटहन सफर